बाल संस्कार

समाज में सकारात्मकता का वातावरण बने इसलिए आवश्यक है की हमारी सोच सकारात्मक हो, भाव सकारात्मक हो एवं अच्छी बातों, प्रेरक कथाओं के माध्यम से जन-जन की सोच भी सकारात्मक बने.
यह ब्लॉग केवल और केवल अच्छी बातों को आप के समक्ष रखने का प्रयास भर है.. आप प्रेरक कथा, गीत, सूक्तिओं एवं वीडियो को देखकर संवाद के माध्यम से हौसला बढ़ाते रहेंगे… ऐसा निवेदन है.

राकेश शर्मा

निदेशक “संस्कार शाला समूह” भोपाल 

विद्याभारती E पाठशाला

आप सभी का स्वागत है।
e पाठशाला में आचार्य के शिक्षण कौशल में सहायक सामग्री का प्रेषण किया जाएगा। सामग्री पाठ्य विषय वस्तु, विद्यार्थियों के मोटीवेशन हेतु कथा, वीडियो। शिक्षण युक्तिओं का समावेश होगा। बाद में ऑनलाइन क्लासरूम में आप को सम्मिलित किया जाएगा। आप और हम सब मिलकर शिक्षा संबंधी सुझावों, सामग्री आदि का विचार करेंगे। कृपया प्राप्त सामग्री को विद्यालय के सभी आचार्यों से साझा अवश्य कीजिये।

राकेश शर्मा

निदेशक “विद्याभारती E पाठशाला ” 

वही पुत्र हैं जो पितृ-भक्त है, वही पिता हैं जो ठीक से पालन करता हैं, वही मित्र है जिस पर विश्वास किया जा सके और वही देश है जहाँ जीविका हो।

-चाणक्य