बाल संस्कार

भारत की पवित्र नदियाँ – कृष्णा नदी

*श्रुतम्-269*

*भारत की पवित्र नदियाँ*

 *कृष्णा*

कृष्णा प्रायद्वीपीय भारत की प्रमुख नदी है।

यह नदी सह्याद्रि पर्वतमाला में *महाबलेश्वर के उत्तर में स्थित कराड* नामक स्थान से निकलती है।

यह स्थान सिंधु सागर के 60 किलोमीटर पूर्व में है।

*वारणा, कोयना, पंचगंगा, घटप्रभा, मल्लप्रभा* आदि लघु सरिताओं का जल समेटे हुए यह दक्षिण पूर्व की ओर बढ़कर कर्नाटक में प्रवेश करती है।

कृष्णा की दो प्रमुख सहायक नदियाँ *भीमा और तुंगभद्रा* है।

*चंद्रभागा* पंढरपुर के समीप भीमा से मिलती है।

आंध्रप्रदेश के काफी विस्तृत क्षेत्र में  बहते हुए कृष्णा *महेंद्र पर्वत श्रंखला* को काटकर गंगासागर की ओर बढ़ती है और वृहद् डेल्टा बनाते हुए सागर में मिल जाती है।

इस नदी के तट पर *सातारा, सांगली, रायचूर, विजयवाड़ा* स्थित है।

*नागार्जुन सागर बांध* इसी पर बांधा गया है।

नदी की कुल लंबाई *1280* किलोमीटर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *