बाल संस्कार

हिंदू होने का गौरव-1

*श्रुतम्-253*

 *हिंदू होने का गौरव-1*

 

  1. हिंदुओं ने गत 10000 वर्ष के अपने इतिहास में राजनीतिक विजय के द्वारा किसी भी देश को अपना उपनिवेश नहीं बनाया।
  2. हिंदुओं ने संख्या प्रणाली का अन्वेषण किया। पांचवी शताब्दी में आर्यभट्ट ने 0(शून्य) का प्रयोग किया आर्यभट्ट से भी हजारों वर्ष पूर्व वैदिक काल खंड में शून्य का ज्ञान था। हिंदुओं ने ही विश्व को दशमलव प्रणाली दी।

 

  1. दुनिया का पहला विश्वविद्यालय ईसा पूर्व 700 में तक्षशिला में स्थापित हुआ। वहां विश्व भर से आए 10 हजार से अधिक छात्र 60 से अधिक विषयों का अध्ययन करते थे। ईसा पूर्व चौथी शताब्दी में नालंदा विश्वविद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में प्राचीन भारत की एक अनूठी उपलब्धि था।

 

  1. सभी यूरोपीय भाषाओं की जननी संस्कृत है। फोर्ब्स पत्रिका जुलाई 1987 के अनुसार कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के लिए संस्कृत सर्वाधिक उपयुक्त भाषा है।

 

  1. आयुर्वेद ही मनुष्य को ज्ञात सबसे पहली चिकित्सा प्रणाली है। औषधि विज्ञान के जनक चरक ने 2500 वर्ष पूर्व आयुर्वेद का निर्माण किया। हमारी सभ्यता में आज आयुर्वेद अपना उचित स्थान तेजी से पुनः प्राप्त कर रहा है।

 

  1. यद्यपि आधुनिक भारत की छवि एक गरीब एवं अविकसित देश के रूप में प्रस्तुत की जाती है परंतु 17वीं शताब्दी में अंग्रेजों के आक्रमण के पूर्व भारत इस धरती का सर्वाधिक समृद्ध देश था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *