बाल संस्कार

हिन्दू धर्म में मंगल प्रतीकों का महत्त्व-5

श्रुतम्-67

हिन्दू धर्म में मंगल प्रतीकों का महत्त्व-5

गरुड़ घंटी :-

जिन जगहों पर घंटी बजने की आवाज नियमित आती है, वहां का वातावरण हमेशा शुद्ध और पवित्र बना रहता है। इससे नकारात्मक शक्तियां हटती है। नकारात्मकता हटने से समृद्धि के द्वारा खुलते हैं।


बांसुरी :-

बांस निर्मित बांसुरी भगवान श्रीकृष्ण को अतिप्रिय है। जिस घर में बांसुरी रखी होती है, वहां के लोगों में परस्पर प्रेम तो बना रहता ही है और साथ ही सुख-समृद्धि भी बनी रहती है। बांसुरी को उन्नति और प्रगति का सूचक बताया गया है। बांसुरी घर में मौजूद वास्तु दोष को भी दूर करती है। बांस से बनी बांसुरी की अहमियत काफी ज्यादा है। घर में प्रवेश करने वाले दरवाजे पर दो बांसुरी को क्रॉस करके लगाने से मुसीबतों से काफी हद तक पीछा छूट जाता है।

बंदनवार:-

इसे बंदनद्वार भी कहते हैं। आम या पीपल के नए कोमल पत्तों की माला को बंदनवार कहा जाता है। इसे अक्सर दीपावली के दिन द्वार पर बांधा जाता है। हालांकि इसे हमेशा बांधकर रखना शुभफलदायी है। बंदनवार इस बात का प्रतीक है कि देवगण इन पत्तों की भीनी-भीनी सुगंध से आकर्षित होकर घर में प्रवेश करते हैं। बंदनवार बंधी रखने से घर परिवार में एकता व शांति बनी रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *