बाल संस्कार

हिन्दू धर्म में मंगल प्रतीकों का महत्त्व-7

श्रुतम्-69

हिन्दू धर्म में मंगल प्रतीकों का महत्त्व-7

मोर पंख :-

मोर पंख को अत्यंत ही शुभ और चमत्कारिक माना जाता है। यह जिसके भी घर में रखा होता है, उसके घर में कभी भूत-प्रेत की बाधा तो नहीं रहेगी ही, साथ ही किसी भी प्रकार के कीड़े-मकोड़े और छिपकली के आने का रास्ता भी बंद हो जाता है। मोर पंख को भाग्यवर्धक माना जाता है। यह भाग्य के मार्ग की सारी रुकावटें भी दूर कर देता है। लेकिन ध्यान रखें घर में मोरपंख का गुच्छा नहीं, मात्र 1 से 3 ही मोर पंख रखना चाहिए।

मीन :-

प्राचीन काल से ही मीन (मछली) का संबंध खुशहाली से जोड़ा जाता रहा है। मछली के जोड़े का प्रतीक प्रेम को बढ़ाता है। उत्तर दिशा में मछली का प्रतीक या प्रतिमा रखने से धन बढ़ता है। आजकल लोग इसकी जगह मछलीघर (फिश एक्वेरियम) भी रखते हैं।

माला :-

रुद्राक्ष, चंदन, तुलसी और कमलगट्टे तीनों में कमलगट्टे की माला घर में अवश्य रखना चाहिए। माना जाता है कि कमलगट्टे की माला से धन प्राप्ति के मार्ग भी खुल जाते हैं। दरअसल, कमलगट्टे लक्ष्मीजी को प्रिय हैं। तुलसी के बीज से या कमल के बीज से बनी माला से जप किया जाता है। इसे पूजाघर में रखना चाहिए और जब भी आप इस माला को फेरते हुए अपने इष्टदेव का 108 बार नाम लेंगे, तो इससे घर और मन में सकारात्मक वातावरण और भावों का संचार होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *