बाल संस्कार

संघ में जाति, ऊंच-नीच, अस्पृश्यता जैसी कोई चीज नहीं है

*श्रुतम्-154* *संघ में जाति, ऊंच-नीच, अस्पृश्यता जैसी कोई चीज नहीं है।* अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का…

डॉक्टर जी का ध्येयनिष्ठ जीवन

*श्रुतम्-153* *डॉक्टर जी का ध्येयनिष्ठ जीवन* डॉक्टर जी के मन में संघ की कल्पना निश्चित हो…

*श्रुतम्-152* *क्रांतिकारी आंदोलन को प्रभावी बनाने में डॉक्टर जी की बड़ी भूमिका* केशव राव डॉक्टर होकर…

हिंदू राष्ट्रीयता का सूत्र ही भारतवर्ष का उद्धार कर सकता है

*श्रुतम्-151* *हिंदू राष्ट्रीयता का सूत्र ही भारतवर्ष का उद्धार कर सकता है।* 1915 से 1925 तक…

*महान् कर्तव्यपूर्ति के लिए लग गया जीवन*

*श्रुतम्-150* *महान् कर्तव्यपूर्ति के लिए लग गया जीवन* डॉक्टर जी ने अपने जीवन  के अनुरूप ही…

*स्वदेशी आंदोलन का* *प्रभावशाली प्रचार*

*श्रुतम्-149* *स्वदेशी आंदोलन का* *प्रभावशाली प्रचार*   1907-08 के प्रचंड स्वदेशी आंदोलन के बाद लोकमान्य तिलक…

*मातृभूमि की वंदना यदि अपराध है तो वह अपराध एक बार नहीं असंख्य बार करूंगा*

*श्रुतम्-148* *मातृभूमि की वंदना यदि अपराध है तो वह अपराध एक बार नहीं असंख्य बार करूंगा*…

*राष्ट्रभाव से ओतप्रोत विद्यार्थी केशव का जीवन*

*श्रुतम्-147* *राष्ट्रभाव से ओतप्रोत विद्यार्थी केशव का जीवन* विद्यार्थी जीवन से ही केशव के मन पर…

जिन्होंने हमें गुलाम बनाया उनके समारोह का आनंद कैसा?

*श्रुतम्-146* *जिन्होंने हमें गुलाम बनाया उनके समारोह का आनंद कैसा?* वर्ष प्रतिपदा के शुभ दिन केशव…

हिंदू समाज की अकेलेपन की भावना को हटाना ही सभी समस्याओं का समाधान है

*श्रुतम्-145* *हिंदू समाज की अकेलेपन* *की भावना को हटाना ही* *सभी समस्याओं का समाधान है।* राष्ट्रीय…